Weed illness Health News

सुर्खियां - Google News

Sushma Swaraj set to come face-to-face with Pak FM Khawaja Asif at UNGA

New Delhi: External Affairs Minister Sushma Swaraj is set to face Pakistan Foreign Minister Khawaja Asif in New York next week, where both leaders are likely to participate in the Shanghai Cooperation Organisation (SCO) Summit and the SAARC group meetings, on the sidelines of the 72nd session of the United Nations General Assembly (UNGA).

Swaraj will also participate in as many as 15 bilateral meetings, including the G77, the SU meeting, the G4 meeting and the BRICS (Brazil, Russia, India, China, and South Africa) meeting.

On being asked if there is any bilateral planned with Pakistan, Kumar said he has no knowledge about it.

"But like I have told if in the regional meetings the Pakistan Foreign Minister is present, then in this context, it can happen, but I have no knowledge of the bilateral meeting," he added.

Sushma Swaraj will arrive in New York on September 17 for seven days of back-to-back engagements centring around the U.N. General Assembly, including her first meeting with U.S. Secretary of State Rex Tillerson.

Source:-Zeenews

View More About Our Services:-Mobile Number Database

चॉकलेटों में गांजा भरकर ऑनलाइन बेचने वाला डॉक्टर गिरफ्तार



हैदराबाद पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है, जो चॉकलेटों में गांजा भरकर उन्हें ऑनलाइन बेचता था. बताया गया है कि 35-वर्षीय शुजात अली खान ने हैदराबाद के एक मेडिकल कॉलेज से वर्ष 2006 में पढ़ाई पूरी की थी, और उसके बाद वर्ष 2014 तक उसने सरकारी निज़ामसागर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ में नौकरी भी की, और उसके बाद अपना खुद का कारोबार करने लगा.

गिरफ्तारी से पहले कई हफ्तों तक शुजात अली खान पर नज़र रखने वाली राचाकोंडा पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन्स टीम ने बताया कि वह पिछले दो साल से गांजा का पाउडर मिलाकर चॉकलेट तैयार किया करता था, और फिर उन्हें छोटे-छोटे कपों में भरकर अपने इंस्टाग्राम एकाउंट के ज़रिये बेचा करता था.

चॉकलेटों को उनमें भरी हुई गांजा की मात्रा के हिसाब से अलग-अलग वर्गों में बांटा हुआ था, और उनकी कीमत 500 रुपये से लेकर 1,800 रुपये प्रति चॉकलेट तक थी.

सूत्रों ने बताया है कि इसके अलावा यह 'डॉक्टर' अलग-अलग जिम में जाकर स्वास्थ्य सलाहकार के रूप में ग्राहकों को यह 'सलाह' भी दिया करता था कि उनका प्रोटीन इनटेक क्या होना चाहिए, यानी रोज़ाना कितनी मात्रा में प्रोटीन उन्हें खाना चाहिए.

सूत्रों ने यह भी बताया कि शुजात अली खान ने देशभर में कम से कम 3,000 ग्राहक बना लिए थे, और आमतौर पर वह ऑर्डर डाक के ज़रिये पूरे किया करता था.

छापे में जब्त किए गए सामान में गांजे से भरी 45 चॉकलेट भी शामिल हैं, और एक ऐसा पैकेट भी, जिसे तमिलनाडु के वेल्लोर में डिलीवर किया जाना था. शुजात अली खान को पहाड़ीशरीफ पुलिस ने गिफ्तार किया है.

इसी साल की शुरुआत में हैदराबाद में ही 33-वर्षीय सैयद शाहिद हुसैन को अपने घर में ही गांजा उगाने के लिए गिरफ्तार किया गया था. तीन बेडरूम वाले उसके अपार्टमेंट से लगभग नौ किलो गांजा और उसके पौधों समेत 40 गमले भी बरामद हुए थे.

हैदराबाद के कमर्शियल हब मणिकोंडा के रहने वाले सैयद शाहिद हुसैन को उस वक्त गिरफ्तार किया गया था, जब वह ग्राहकों को गांजा बेच रहा था. इस मामले में भी सबसे अहम बात यही थी कि अमेरिका में रहने वाले एक दोस्त की सलाह के बाद सैयद शाहिद हुसैन ने इंटरनेट पर वीडियो देख-देखकर घर में गांजा उगाने का तरीका सीखा था.

Source: amarujala.com

गांजे में पाए जाने वाला तत्व हो सकता है अल्जाइमर में मददगार

हम सभी जानते हैं कि सिगरेट, बीड़ी या गांजा पीना हमारी सेहत पर बुरा प्रभाव डालता है, लेकिन आपको बता दें कि गांजे में पाए जाने वाला एक सक्रिय यौगिक मस्तिष्क में जहरीले प्रोटीन के निष्कासन में मददगार हो सकता है।

एक नए अध्ययन से पता चला है कि टेट्राहाइड्रोकैनाबिनॉल (टीएचसी) और अन्य यौगिक तंत्रिका कोशिकाओं से हानिकारक एम्लाइड बीटा के निष्कासन में मदद करते हैं। यह रिज़ल्ट पहले हुए अध्ययनों का समर्थन देता है। इसके तहत बता या गया है कि कैनाबाइनॉइड्स न्यूरोडिजनरेटिव रोगों से ग्रसित लोगों पर सुरक्षात्मक प्रभाव डालता है।

कैलिफोर्निया की साल्क इंस्टीट्यूट फॉर बॉयोलॉजिकल स्टडीज से इस अध्ययन के मुख्य शोधार्थी डेविड स्कूबर्ट ने कहा कि हमारे अध्ययन से यह पहली बार सामने आया है कि कैनाबाइनॉइड्स तंत्रिका कोशिकाओं में सूजन और एम्लॉइड बीटा एक्यूमुलेशन दोनों में प्रभावकारी है।

एम्लाइड बीटा को अल्जाइमर रोग का प्रमुख कारण माना जाता है। यह हानिकारक प्रोटीन लोगों के मस्तिष्क में जम जाता है, प्लाक का गठन करता है और तंत्रिका कोशिकाओं के बीच संचार में बाधा उत्पन्न करता है।

यह शोध ‘एजिंग एंड मेकानिज्म्स ऑफ डिसीस’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।
Sorce ndtv.com

Weed News